Read News

on
30-12-16

मुख्यमंत्री ने सुपौल एवं सहरसा जिला में किये जा रहे विकास कार्यों की समीक्षा की


निश्चय यात्रा के चैथे चरण के दूसरे दिन मुख्यमंत्री श्री नीतीश कुमार ने आज मधेपुरा जिला के जननायक कर्पूरी ठाकुर सरकारी मेडिकल काॅलेज एवं अस्पताल के हो रहे भवन निर्माण का निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने लाइब्रेरी भवन सहित अन्य भवनों का निरीक्षण किया। प्रधान सचिव स्वास्थ्य श्री आर0के0 महाजन ने मुख्यमंत्री के समक्ष जननायक कर्पूरी ठाकुर सरकारी मेडिकल काॅलेज अस्पताल से संबंधित विस्तृत प्रस्तुतीकरण दिया। प्रस्तुतीकरण में बताया गया कि जननायक कर्पूरी ठाकुर सरकारी मेडिकल काॅलेज एवं अस्पताल में पाॅच सौ बेड का अस्पताल बनाया जा रहा है। साथ ही प्रतिवर्ष एक सौ छात्र की प्रवेष क्षमता का निर्माण किया जा रहा है। जननायक कर्पूरी ठाकुर सरकारी मेडिकल काॅलेज एवं अस्पताल 25 एकड़ भूमि में बनाया जा रहा है। मेडिकल काॅलेज के डिटेल प्लान के बारे में मुख्यमंत्री को बताया गया। मुख्यमंत्री ने उपस्थित अधिकारियों को निर्देष दिया कि आगे की सोचकर भवन का निर्माण करायें। 

इसके पश्चात मुख्यमंत्री ने सुखासन पंचायत वार्ड नंबर- 7, नया नगर महादलित टोला में हर घर नल का जल, हर घर बिजली, हर घर शौचालय, घर तक पक्की गली-नाली योजना का उद्घाटन एवं निरीक्षण किया। वार्ड नंबर- 7 के निरीक्षण के क्रम में मुख्यमंत्री ने वार्ड नंबर- 7, नया नगर महादलित टोला में आॅगनबाड़ी केन्द्र संख्या- 150 का निरीक्षण किया तथा वहाॅ अध्ययन कर रहे बच्चों से बातचीत भी की। 

ग्राम पंचायत राज सुखासन वार्ड नंबर- 7, नया नगर महादलित टोला में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुये मुख्यमंत्री ने कहा कि निष्चय यात्रा के क्रम में आज यहाॅ आने का मौका मिला है। ग्राम पंचायत सुखासन के मुखिया, वार्ड सदस्य को बधाई देता हूॅ। सात निष्चय कार्यक्रम अन्तर्गत गाॅवों के लिये बनाई गई येाजनाओं का क्रियान्वयन किया गया है। उन्होंने कहा कि सात निष्चय कार्यक्रम के अन्तर्गत गाॅव के लिये बनाई गई योजनायें हर गाॅव, हर घर के लिये जरूरी है। इन योजनाओं को सभी गाॅवों में लागू किया जायेगा। हर ग्राम पंचायत, हर वार्ड में इसे पूरा करने के लिये चार वर्षों की समय अवधि रखी गयी है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि सात निष्चय का एलान महागठबंधन के साझा कार्यक्रम में किया गया था। सरकार बनने के बाद सात निष्चय के कार्यक्रमों को स्वीकार किया गया, इसको क्रियान्वित करने के लिये योजनायें बनायी गयी। एक साल के अंदर इन योजनाओं पर कार्य शुरू कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि निष्चय यात्रा के क्रम में देखने निकले हैं कि इन योजनाओं का क्रियान्वयन किस तरह किया जा रहा है, कहीं कोई कठिनाई तो नहीं है। अगर कोई कठिनाई है तो उसे दूर करने का प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा कि काम की शुरूआत अच्छी तरह से हुयी है। हमलोगों के सोच के अनुरूप यहाॅ व्यवस्था की गयी है, इसके लिये सभी को बधाई। उन्होंने कहा कि आप सभी धैर्य रखिये, सभी जगह काम होगा। एक साथ सभी जगह काम संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि आपके बीच आकर प्रसन्नता हुयी है। आपने जो सम्मान दिया, उसके लिये आभारी हूॅ। उन्होंने कहा कि हम बिना सोचे-समझे काम नहीं करते हैं। पूरी तैयारी, पूरी सोच के बाद ही किसी कार्य की घोषणा करते हैं। अगर घोषणा करते हैं तो उस पर अमल करते हैं। उन्हांेने कहा कि हमने कहा था कि शराबबंदी लागू करेंगे, कहा था तो किया। उन्होंने कहा कि जिला के हर पंचायत, हर वार्ड में गाॅव के लिये बनाये गये निष्चय योजनाओं का क्रियान्वयन किया जायेगा। यह तो मात्र शुरूआत है, शुरूआत अच्छी होती है तो आगे भी काम अच्छा होता है। उन्होंने कहा कि हर घर नल का जल के साथ-साथ हर घर में शौचालय का निर्माण कराया जा रहा है। अगर लेागों को शुद्ध पीने का पानी मिले और खुले में शौच से मुक्त हो तो नब्बे प्रतिषत बीमारियों से मुक्त हो जायेंगे। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी लोग धैर्य रखें, आपस में प्रेम एवं सद्भाव बनायें रखें। आज बिहार मंे एकजुटता है, आपसी प्रेम, भाव है इसलिये बिहार आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि आप सबका सहयोग मिलना चाहिये। मुख्यमंत्री ने कहा कि 21 जनवरी से दो माह तक जबर्दस्त अभियान चलाया जायेगा। हम शराबबंदी से नषामुक्ति की ओर आगे बढ़ेंगे। 21 जनवरी को पूरे बिहार में मानव श्रृंखला बनाया जायेगा। लोग एक दूसरे का हाथ पकड़कर आधा घंटा तक खड़ा रहेंगे। पाॅच हजार किलोमीटर लंबा मानव श्रृंखला बनेगा, इसमें लगभग दो करोड़ लोग शामिल होंगे। 

सुखासन पंचायत के निरीक्षण के पष्चात मुख्यमंत्री श्री नीतीष कुमार ने समिधा कैम्पस मधेपुरा में दीप प्रज्ज्वलित कर बिहार कौषल विकास मिषन के कुषल युवा योजना के तहत युवाओं के भाषा ज्ञान, संवाद कौषल एवं बुनियादी कम्प्यूटर ज्ञान प्रषिक्षण का शुभारंभ किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कहा कि आज बहुत खुषी हुयी है कि कुषल युवा कार्यक्रम के तहत युवाओं को दी जा रही प्रषिक्षण कार्यक्रम की शुरूआत हुयी है। सात निष्चय की घोषणा पिछले वर्ष की गयी थी। सात निष्चय को लागू करने के लिये पूरी तैयारियाॅ की गयी थी। उन्होंने कहा कि सात निष्चय में से एक निष्चय युवाओं के लिये है। 12वीं से आगे इच्छुक युवा को पढ़ने के लिये चार लाख रूपये तक का स्टुडेंट क्रेडिट कार्ड दिया जायेगा। वैसे युवा जो आगे नहीं पढ़ना चाहते हैं एवं रोजगार की तलाष कर रहे हैं, ऐसे रोजगार की तलाष करने वाले 20 से 25 साल के बीच के युवा को रोजगार तलाषने में मदद के लिये दो साल तक प्रतिमाह एक हजार रूपये का स्वयं सहायता भता दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि युवाओं के क्षमतावर्द्धन के लिये कुषल युवा कार्यक्रम की शुरूआत की गयी ताकि वे बेहतर रोजगार करने एवं पाने में समक्ष हों। उन्होंने कहा कि सरकार की तरफ से हर प्रखण्ड में एक कौषल विकास केन्द्र बनाया गया है। युवाओं को विभिन्न प्रकार की दी जा सुविधाओं के लिये जिला निबंधन एवं परामर्ष केन्द्र बनाया गया है। सभी जिलों में यह केन्द्र बन गया है, इसकी शुरूआत राष्ट्रपिता महात्मा गाॅधी के जन्मदिन 2 अक्टूबर से शुरू किया गया। उन्होंने कहा कि आज कुषल युवा कार्यक्रम अन्तर्गत युवाओं का प्रषिक्षण कार्यक्रम की शुरूआत को देखने का मौका मिला है। मुझे काफी प्रसन्नता हो रही है। उन्होंने कहा कि पारदर्षी प्रक्रिया को अपनाते हुये यह काम किया गया है। उन्होंने कहा कि स्टुडेंट क्रेडिट कार्ड योजना में सरकार द्वारा स्टुडेंट क्रेडिट कार्ड के मूल एवं सूद की राषि दोनों की गारंटी बैंकों को दिया गया है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार की सबसे बड़ी पूॅजी युवा है। यहाॅ के युवा मेधावी, परिश्रमी हैं। अगर हम उनका क्षमतावर्द्धन कर दें तो फिर उनके लिये स्काई इज द लिमिट होगी। उन्होंने कहा कि देष भर में आयोजित होने वाली विभिन्न प्रतियोगिताओं में अगर किसी एक राज्य के सबसे ज्यादा युवा उतीर्ण होते हैं तो वह बिहार है। उन्होंने कहा कि मैं आप सभी को बधाई देता हूॅ। साथ ही केन्द्रों पर अध्ययन कर रहे बच्चों को शुभकामनायें देता हूॅ। आप सभी आगे बढ़ें, आपका भविष्य उज्ज्वल हो, यही मेरी कामना है। 

इस अवसर पर मधेपुरा जिला के प्रभारी मंत्री सह ऊर्जा मंत्री श्री बिजेन्द्र प्रसाद यादव, आपदा प्रबंधन मंत्री डाॅ0 चन्द्रषेखर, अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री श्री अब्दुल गफ्फूर, विधायक एवं विधान पार्षदगण, विकास आयुक्त श्री षिषिर सिन्हा, प्रधान सचिव स्वास्थ्य श्री आर0के0 महाजन, पुलिस महानिदेषक श्री पी0के0 ठाकुर, प्रधान सचिव लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण श्रीमती अंषुली आर्या, प्रधान सचिव श्रम संसाधन श्री दीपक कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के सचिव श्री अतीष चन्द्रा, मुख्यमंत्री के सचिव श्री मनीष कुमार वर्मा, आयुक्त सहरसा प्रमण्डल, जिलाधिकारी मधेपुरा, पुलिस अधीक्षक मधेपुरा सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति एवं वरीय अधिकारी उपस्थित थे।